टर्म लोन

टर्म लोन व्यावसायिक प्रयोजनों के लिए दिया जाने वाला लोन है, जिसकी चुकौती निर्धारित समयावधि के अंदर करने की जरूरत होती है. इसके लिए एक निश्चित ब्याज दर, मासिक या त्रैमासिक पुनर्भुगतान अनुसूची होती है - और इसमें एक निश्चित परिपक्वता दिनांक शामिल होता है. टर्म लोन्स सिक्योर (यानी कुछ गिरवी रखा जाता है) और अनसिक्योर दोनों हो सकते हैं. सिक्योर्ड टर्म लोन में सामान्य रूप से अनसिक्योर्ड की तुलना ब्याज दर कम होता है. पुनर्भुगतान की अवधि के आधार पर इस लोन के प्रकार को नीचे दिए विवरण अनुसार वर्गीकृत किया गया है:

  • अल्पकालिक लोन: पुनर्भुगतान की अवधि १ वर्ष से कम
  • मध्यम अवधि लोन: पुनर्भुगतान की अवधि १ वर्ष से ३ वर्ष
  • दीर्घ अवधि लोन: पुनर्भुगतान की अवधि ३ वर्ष से अधिक

 

ऊपर लौटें

बैंक ओवरड्राफ्ट सुविधा

बैंक ओवरड्राफ्ट सुविधा का अर्थ है कंपनी के करेंट अकाउंट में उपलब्ध राशि से अधिक धन निकासी करने की क्षमता. सुविधा का वास्तविक आकार और ओवरड्राफ्ट पर अदा ब्याज दर मंजूरी से पहले सहमत किया जाता है. ओवरड्राफ्ट सुविधा को अल्पकालिक फंडिंग का स्रोत माना जाता है क्योंकि इसे अगली जमाराशि के साथ कवर किया जा सकता है.

ऊपर लौटें

लेटर ऑफ क्रेडिट

लेटर ऑफ क्रेडिट वित्तीय संस्थान द्वारा जारी दस्तावेज होता है, जो बैंक को कुछ दस्तावेज प्रदान किए जाने पर विक्रेता को भुगतान का आश्वासन देता है. यह सुनिश्चित करता है कि जब तक सेवाएँ संपन्न (सामान्य रूप से माल का डिस्पैच) की जाती हैं भुगतान किया जाएगा. इसीलिए, विक्रेता के लिए लेटर ऑफ क्रेडिट इस गारंटी का रूप होता है कि, उसे सहमति के अनुसार भुगतान कर दिया जाएगा. अक्सर इसका उपयोग विदेशी ग्राहकों को माल बेचे जाने पर या व्यापारिक पक्षों का एक दूसरे के साथ अच्छी तरह से परिचय नहीं होने पर ट्रेड फायनांसिंग के लिए किया जाता है.

ऊपर लौटें

बैंक गारंटी

बैंक गारंटी किसी तीसरे पक्ष (लाभार्थी) को अपने ग्राहक की ओर से बैंक द्वारा जारी की गई `लेटर ऑफ गारंटी' होती है जो गारंटी देती है कि लेटर ऑफ गारंटी दिखाने पर उसकी वैधता अवधि के अंदर एक निश्चित धनराशि बैंक द्वारा तीसरे पक्ष को अदा की जाएगी. लेटर ऑफ गारंटी कुछ शर्तें तय करती है जिसके अंतर्गत गारंटी को क्रियाशील किया जा सकता है. लाइन ऑफ क्रेडिट से हटकर, धनराशि केवल तभी अदा की जाती है जब सामने वाला पक्ष कॉन्ट्रैक्ट के तहत निर्धारित बाध्यता को पूरा नहीं करता है. किसी कॉन्ट्रैक्ट में अन्य पक्ष द्वारा अकार्यक्षमता दिखाने के कारण होने वाली हानि या नुकसान से खरीदार या विक्रेता को बीमित करने के लिए सामान्य रूप से बैंक गारंटी का उपयोग किया जाता है.

ऊपर लौटें

लीज फायनांस

लीज फायनांसिंग एक आधुनिक फायनांसिंग पद्धति है जिसकी बदौलत व्यक्ति या कंपनियॉं, पहले सेट किए गए अंतरिम भुगतानों के बदले में, मध्यम से दीर्घ कालिक फायनांसिंग अवधियों के लिए कुछ एसेट्स को प्राप्त और उपयोग कर सकते हैं. कर्जदाता, जो कि फायनांस कंपनी होती है, एसेट्स को खरीदती है और उस का कानूनन मालिक बन जाती है. लीजिंग अवधि खत्म होने पर कर्जदार द्वारा अदा किरायों या किस्तों से अर्जित ब्याज के अलावा कर्जदाता चिन्हित वस्तु की शुरुआती ख़र्च का एक बडा हिस्सा (या संपूर्ण) वसूल कर चुका होगा. कर्जदार के पास उदाहरण के लिए, अंतिम किराया या किस्त अदा करके या कर्जदाता के साथ अंतिम खरीद मूल्य निश्चित करके चिन्हित एसेट् का स्वामित्व हासिल करने का भी विकल्प होता है. लीजिंग अवधि के दौरान, कर्जदाता (फायनांस कंपनी) आस्ति की कानूनन मालिक होती है. फिर भी, आस्ति पर कर्जदार का नियंत्रण होता है और वह जरूरत के अनुसार उसका उपयोग करता है.

ऊपर लौटें

एसएमई कोलैटरल फ्री लोन

सामान्य रूप से यह बिजनेस लोन है जो एसएमई को दिया जाता है और ये कोलैटरल मुक्त या तृतीय पक्ष की गारंटी के बिना होते हैं. यहां पर कर्जदार को लोन हासिल करने के लिए कोलैटरल देने की जरूरत नहीं होती. यह एसएमई के लिए स्टार्ट-अप तथा मौजूदा चरणों के लिए कार्यशील पूँजी की जरूरतों, मशीनों की खरीद, विस्तार की योजनाओं को आधार देने के लिए उपलब्ध कराया जाता है. फिर भी, यह ध्यान देने योग्य है कि रिटेल व्यापार में शामिल छोटे व्यवसाय इस प्रकार के लोन्स के लिए पात्र नहीं हैं.

ऊपर लौटें

कंस्ट्रक्शन उपकरण लोन्स

निर्माण संबंधी उपकरण लोन्स नए और प्रयुक्त दोनों तरह के उपकरणों की खरीदारी के लिए प्रदान किए जाते हैं, जैसे कि एक्सकेवेटर्स, बैकहो लोडर्स, क्रेन्स, हायर एंड कंस्ट्रक्शन इक्विपमेंट इत्यादि. सौदे और पुनर्भुगतान क्षमता के स्वरूप के आधार पर ऐसे लोन्स की अवधि १२ से ६० महीने तक होती है. यह सामान्य रूप से एक सिक्योर्ड लोन है जहां लोन की चुकौती होने तक मशीन गिरवी रहती है.

ऊपर लौटें

एसएमई क्रेडिट कार्ड

एसएमई क्रेडिट कार्ड एक प्रकार का लोन है जो कैश क्रेडिट या टर्म लोन- प्रकार में उपलब्ध कराया जाता है, जहाँ कर्ज की मात्रा १० लाख तक होती है.

इस लोन सुविधा का उपयोग छोटी औद्योगिक यूनिट्स, छोटे रिटेल ट्रेडर, छोटे बिजनेस एंटरप्राइजेस और ट्रांसपोर्ट ट्रेडर्स द्वारा किया जा सकता है. टर्म लोन्स के लिए चुकौती की अवधि ५ वर्ष और कैश क्रेडिट के लिए ३ वर्ष होती है.

ऊपर लौटें

कमर्शियल वेहिकल लोन्स

कमर्शियल वेहिकल लोन्स की बदौलत कर्जदार ट्रक्स, बस, टिपर्स, लाइट कमर्शियल वेहिकल्स जैसे वाहन खरीद सकते हैं. ऐसे लोन्स की अवधि सौदे और पुनर्भुगतान क्षमता के स्वरूप के आधार पर १२ से ६० महीनों तक हो सकती है.

यह लोन सुविधा व्यवसाय में दो वर्ष से अधिक का अनुभव रखने वाली कंपनियों को दिया जाता है और जो कम से कम दो कमर्शियल वेहिकल्स के मालिक, कैपि्टव कस्टमर्स और ट्रांसपोर्टर हैं.

ऊपर लौटें

यह ध्यान में रखना महत्वपूर्ण है कि ये केवल सामान्य वर्णन हैं. कर्जदाता कोई भी कर्ज देने का फैसला करने से पहले अपने विशिष्ट लोन मूल्यांकन और कागजी कार्रवाई के मापदंड का उपयोग करते हैं.