सिबिल को समझिए: कार्य, उत्पाद और सेवा