क्रेडिट स्कोर और ऋण अनुमोदन

समझें कि आपका क्रेडिट स्कोर ऋण स्वीकृति प्रक्रिया में कैसे सहायक है

प्रक्रिया को देखें

इस पृष्ठ को साझा करें

सपनों का घर. नई कार. अंतर्राष्ट्रीय शिक्षा. परिवार में विवाह. बहुमूल्य पलों का, किसी आर्थिक तनाव की चिंता किए बगैर, पूरा आनंद लिया जाना चाहिए. लोन वह तनाव दूर करने में मदद करता है, लेकिन अक्सर, लोन आवेदन प्रक्रिया ही अपने आप में सबसे तकलीफ भरी होती है. अब ऐसा नहीं होगा. अपने क्रेडिट स्कोर और क्रेडिट इन्फॉर्मेशन रिपोर्ट (सीआईआर) के साथ आप अब अपने लोन की जरूरत का नियोजन अधिक व्यवस्थित तरीके से कर सकते हैं. सिबिल मार्केट प्लेस के अस्तित्व में आने से लोन आवेदन की प्रक्रिया और भी आसानहो गई है. बैंकों में लोन के लिए चक्कर लगाने और अपनी योग्यता की पुष्टि किए जाने का इंतजार करने के बजाय, बस अपनी क्रेडिट पात्रता के आधार पर विभिन्न प्रतिभागी वित्तीय संस्थानों द्वारा अपलोड किये गये लोन्स की तुलना कीजिए मार्केट प्लेस पर विजिट करके, और वह लोन चुनिए जो आपकी जरूरत को बेहतरीन तरीके से पूरा करता है. यह समझने के लिए कि आपका क्रेडिट स्कोर किस तरह से लोन आवेदन प्रक्रिया को सुगम बनाता है यहां क्लिक कीजिए. संबंधित लोन श्रेणी पर एफएक्यू पढने के लिए नीचे दिया गया प्रोडक्ट चुनें.

पर्सनल लोन चाहे नया होम थिएटर लेना हो या फिर अपने परिवार को विदेश यात्रा पर ले जाना हो, पर्सनल लोन्स का उपयोग किसी भी खर्च के लिए किया जा सकता है. यह उन छोटे खर्चों के लिए सही है और इसे कुछ वर्षों के अंदर चुकाया जा सकता है.

पर्सनल लोन क्या है?

पर्सनल लोन कर्जदार द्वारा अपनी जरूरतों और इच्छाओं के लिए लिया जाता है. इसे आमतौर पर अनसिक्योर्ड लोन कहा जाता है क्योंकि इसके प्रति कोई सिक्योरिटी/कोलैटरल नहीं लिया जाता. कभी कभी इसे ``ऑल पर्पज लोन'' भी कहा जाता है क्योंकि इसका उपयोग करने में कोई प्रतिबंध नहीं होता.

कर्जदार विभिन्न कारणों के लिए पर्सनल लोन का उपयोग करते हैं जैसे कि वैकेशन्स, घर के फर्नीचर, नया एप्लायंस खरीदने, विवाह में खर्च के लिए इत्यादि. कर्जदार जो भी निजी खर्च करना चाहता है वे सभी पर्सनल लोन लेकर किए जा सकते हैं.

ऊपर लौटें

पर्सनल लोन क्यों लें?

पर्सनल लोन सामान्य रूप से ऐसे कर्जदारों द्वारा लिया जाता है जो जल्द से जल्द और कम से कम कागजी कार्रवाई करके लोन पाना चाहते हैं. इसके अलावा, पर्सनल लोन कर्जदार को किसी भी मनचाहे उद्देश्य के लिए लोन का उपयोग करने की आजादी देता है.

ऊपर लौटें

आपको कितना लोन मिल सकता है?

कर्जदाता और कर्जदार की चुकाने की क्षमता के अनुसार पर्सनल लोन १०,००० - ३०,००,०००,/- तक हो सकता है. लोन मंजूरी प्रक्रिया को समझने के लिए यह एजुकेशनल वीडियो देखिए और समझिए कि आपकी कर्ज लेने की क्षमता क्या है.

ऊपर लौटें

पर्सनल लोन कितनी अवधि के लिए लिया जा सकता है?

पर्सनल लोन एक शॉर्ट टर्म लोन है. भुगतान के अनेक विकल्प उपलब्ध होते हैं, और यह कर्जदाता और कर्जदार के क्रेडिट इतिहास के आधार पर १२-६० महीने के बीच हो सकता है.

ऊपर लौटें

मैं किस ब्याज दर के लिए पात्र हूँ?

पर्सनल लोन के लिए ब्याज दर कर्जदार और कर्जदाता के अनुसार अलग-अलग हो सकता है, जो उनके निजी क्रेडिट इतिहास और कर्ज मे ली गई राशि पर निर्भर होता है. आप अपने सिबिल स्कोर और अन्य मापदंड के आधार पर प्रतिभागी बैंकों द्वारा आपको प्रदान की जा रही ब्याज दर (और अन्य खूबियों) को जॉंचने के लिए मार्केट प्लेस पर लॉग ऑन कर सकते हैं.

ऊपर लौटें

कौन से कारक हैं जो पर्सनल लोन के लिए ब्याज दर को प्रभावित करते हैं?

कर्ज की ब्याज दर इन पर निर्भर होती है:

  • आपकी आय की तुलना में लोन की राशि
  • आप द्वारा चयनित लोन की अवधि
  • क्रेडिट प्रोफाइल जो आपकी क्रेडिट रिपोर्ट से तय होती है

ऊपर लौटें

कौन से अन्य शुल्क लागू हैं और कब देय हैं?

सामान्य रूप से २ प्रकार के शुल्क लागू होते हैं- १. पर्सनल लोन के लिए आवेदन करते समय. ये आम तौर पर लोन राशि के २-३% तक होते हैं. यह अलग-अलग कर्जदाता के अनुसार अलग- अलग होता है. २- जब आप अपने लोन का पूर्व-भुगतान करते हैं, यानी यदि आप लोन की अवधि से पहले लोन चुका देते हैं तो, प्रीपेमेंट शुल्क २-३% तक होता है.

ऊपर लौटें

कर्जदाता कोई लोन आवेदन मंजूर करने से पहले क्या देखते हैं?

जब आप लोन के लिए आवेदन करते हैं तब आपकी निजी आय, वर्तमान ईएमआई, कर्जदार का क्रेडिट इतिहास और आपकी कंपनी में आपका प्रोफाइल विचार में लिए जाते हैं. चूंकि यह अनसिक्योर्ड लोन होता है इसीलिए कर्जदाता विशेष रूप से कर्जदार के लोन भुगतान के इतिहास और क्रेडिट स्कोर को देखते हैं. आपको अपने सिबिल स्कोर और सीआईआर की नियमित जांच करनी चाहिए ताकि आप सुनिश्चित कर सके कि उसमें कोई ग़लती न रहे और संपूर्ण रिपोर्ट कर्जदाता को सकारात्मक लगे.

ऊपर लौटें

लोन को मंजूरी मिलने के लिए कितना समय लगता है?

पर्सनल लोन वितरित करने में लगने वाला समय कर्जदाता के अनुसार अलग-अलग होता है. आपका लोन २४ घंटे जितने कम समय में मंजूर हो सकता है, या फिर इसमें आपकी विश्वसनीयता के आधार पर ७ कार्य दिवस भी लग सकते हैं.

ऊपर लौटें

मुझे किस बारे में सावधान रहना चाहिए?

पर्सनल लोन के लिए आवेदन करते समय, सुनिश्चित करें कि आप अपनी क्षमता के अनुसार ही कर्ज लें अन्यथा लोन भुगतान एक लंबी और कठिन प्रक्रिया हो जाएगी, जो भुगतान बकाया रहने पर आपके क्रेडिट इतिहास और क्रेडिट स्कोर को प्रभावित कर सकता है. पर्सनल लोन्स मार्केट में उपलब्ध लोन के सबसे महंगे स्वरूपों में एक है. अनुसंधान करने और उसमें शामिल लागत और लाभ को समझने के बाद सावधानी से चयन करें.

ऊपर लौटें

क्रेडिट कार्ड अपनी क्रेडिट की जरूरत के अनुरूप अग्रणी वित्तीय संस्थानों द्वारा कुछ श्रेष्ठ क्रेडिट कार्ड प्लान्स के साथ आर्थिक आजादी का आनंद लें. यह देखने के लिए मार्केट प्लेस पर विजिट करना न भूलें कि आपकी क्रेडिट पात्रता के आधार पर बैंक आपको क्या प्रदान कर रहे हैं.

क्रेडिट कार्ड क्या है?

क्रेडिट कार्ड वित्तीय संस्थान द्वारा जारी साधन है जिसकी बदौलत प्रयोक्ता एक पूर्वनिर्धारित क्रेडिट सीमा तक क्रेडिट पर खरीदारियॉं कर सकता है. क्रेडिट सीमा वह अधिकतम राशि है जो क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके खर्च की या उधार ली जा सकती है. सीमा विभिन्न कर्जदारों और कर्जदाताओं के लिए अलग-अलग होती है क्योंकि यह कर्जदार की आय, आय के स्रोत, क्रेडिट स्कोर, चुकौती का इतिहास, और अन्य निजी विवरणों के आधार पर निर्धारित किया जाता है.

ऊपर लौटें

क्रेडिट कार्ड के विभिन्न प्रकार क्या हैं?

क्रेडिट संस्थान के आधार पर क्रेडिट कार्ड्स के विभिन्न प्रकार है, जैसे कि सिग्नेचर, प्लैटिनम, गोल्ड या सिल्वर. अन्य कैटेगरी कार्ड्स भी हैं जो एक विशिष्ट वर्ग को आकर्षित करते हैं जैसे कि अक्सर हवाई यात्रा करने वालों के लिए माइल्स कार्ड या मूवी के उत्सुक लोगों के लिए मूवी कार्ड. प्रदान किए जाने वाले कार्ड का प्रकार ग्राहक की उधार लेने की शक्ति (उसकी आय और क्रेडिट इतिहास के आधार पर) पर आधारित होता है और कार्ड का हर प्रकार विभिन्न ऑफर्स, स्कीमें और रिवॉर्ड पॉइंट्स प्रदान करता है.

ऊपर लौटें

कैसे आवेदन करें?

यह जॉंचना एक अच्छी पद्धति है कि क्या आपका सिबिल स्कोर और सीआईआर व्यवस्थित है क्योंकि कर्जदाता अक्सर इसे क्रेडिट कार्ड की मंजूरी के लिए प्राथमिक जांच के रूप में देखते हैं. सुनिश्चित करें कि आपका क्रेडिट स्कोर ऊंचा हो और आपके चुकौती के इतिहास में कोई दोष न हो क्योंकि मंजूरी पाने में यह आपकी संभावनाओं को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है. उसके बाद आप किसी भी बैंक से संपर्क करके अपनी जरूरत के आधार पर क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं.

ऊपर लौटें

मुझे क्रेडिट कार्ड क्यों लेना चाहिए?

क्रेडिट कार्ड लेने से आप अपने बजट से अधिक खरीदारी करने में सक्षम रहते हैं और साथ ही आप मासिक आधार पर पूरा या आंशिक भुगतान कर सकते हैं. यह ऐसी सुविधा है जो आपको कम समय की सूचना पर उधार लेने देती है और किस्तों में उसे चुकाने की सुविधा देती है (यदि जरूरत हो). क्रेडिट कार्ड, रिवॉर्ड स्कीमों और लाभों के स्वरूप में अन्य सुविधाएं भी प्रदान करता है. माइल्स प्रदान किए जाते हैं यानि आप एयरलाइन्स पर विशिष्ट राशि खर्च करते हैं, शॉपिंग पर हर महीने एक तय राशि खर्च करने के लिए रिवॉर्ड पाइंट्स दिए जाते हैं इत्यादि. (अलग-अलग कार्ड और लेंडिंग संस्थान के अनुसार यह भिन्न होता है). ये ऑफर्स समय-समय पर बदलते हैं लेकिन संचित पॉइंट्स को बाद में क्रेडिट कार्ड जारीकर्ता की नीति के आधार पर अन्य विभिन्न वस्तुओं के लिए रिडीम किया जा सकता है.

ऊपर लौटें

विलंबित भुगतान के लिए क्रेडिट कार्ड पर लगाए जा सकने वाले प्रभार क्या हैं?

यदि आप नियत दिनांक तक “न्यूनतम नियत राशि” अदा नहीं करते हैं तो आपकी बकाया राशि पर ब्याज के प्रभार सहित विलंब भुगतान शुल्क लगाया जाता है. यह विलंब भुगतान शुल्क २५०- १००० तक होता है, जो वित्तीय संस्थान और कार्ड के प्रकार पर निर्भर होता है. साथ ही नियत तिथि तक भुगतान नहीं करना आपके क्रेडिट स्कोर को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है, जो कि भविष्य में आपकी कर्ज लेने और मोलभाव करने की क्षमता को प्रभावित कर सकता है.

ऊपर लौटें

क्रेडिट कार्ड के बकाया पर ब्याज दर की गणना कैसे की जाती है?

यदि आप केवल न्यूनतम नियत राशि अदा करते हैं या नियत दिनांक तक सारी राशि भुगतान नहीं करते हैं, तो आपकी बकाया राशि पर ब्याज दर लागू होगा. अधिकांश क्रेडिट कार्ड जारीकर्ता औसत दैनिक बैलेंस पद्धति को अपनाते हैं. माना कि भुगतान ग्रेस अवधि या ब्याज मुक्त अवधि (अक्सर ४५-६० दिन के बीच) के अंदर नहीं किया गया है, तो यह ब्याज दर ३६% प्र.व. जितना अधिक हो सकता है. आइए नीचे दिया गया उदाहरण देखें:

दिनांक व्यवहार के विवरण राशि
१० सितंबर गैजेट खरीदा १५,०००
१५ सितंबर ज्वेलरी खरीदी ५,०००
१८ सितंबर भुगतान नियत है  
१५ अक्टूबर भुगतान किया २,०००
१६ अक्टूबर ईंधन खरीदा १,०००
१७ अक्टूबर भुगतान किया १५,०००

*चूंकि व्यक्ति ने नियत दिनांक के बाद भुगतान किया इसीलिए संपूर्ण बकाया शेष पर ब्याज दर लगाया जाएगा और विलंब भुगतान का जुर्माना लगेगा.

प्रभार की गणना नीचे दिए अनुसार होगी-

१८ सितंबर से १५ अक्टूबर (यानी २८ दिन के लिए) १५००० पर २.६५% प्रति माह की दर से ब्याज (१५,०००x२.६५x१२x२८)/३६५)/१०० = ३६५.९१

१५ अक्टूबर से १७ अक्टूबर (यानी ३ दिन के लिए) १३००० पर २.६५% प्रति माह की दर से ब्याज (१३,०००x२.६५x१२x३)/३६५)/१०० = ३३.९७

१८ सितंबर से १७ अक्टूबर (यानी ३० दिन के लिए) ५००० पर २.६५% प्रति माह की दर से ब्याज (५,०००x२.६५x१२x३०)/३६५)/१०० = १३०.६८

१७ सितंबर से १८ अक्टूबर (यानी २ दिन के लिए) ३००० पर २.६५% प्रति माह की दर से ब्याज (३,०००x२.६५x१२x२)/३६५)/१०० = ५.२२

१६ अक्टूबर से १८ अक्टूबर (यानी ३ दिन के लिए) १००० पर (नए खर्च २.६५% प्रति माह की दर से ब्याज (१,०००x२.६५x१२x३)/३६५)/१०० = २.६१

इस तरह से कुल ब्याज = ५३८.३९

ऊपर लौटें

कर्जदाता क्या देखते हैं?

क्रेडिट कार्ड आवेदन के साथ, कर्जदाता निजी विवरण और क्रेडिट आचरण करीबी से देखते हैं. क्रेडिट स्कोर जितना ऊँचा और क्रेडिट रिपोर्ट जितनी स्पष्ट होती है क्रेडिट कार्ड मिलने की संभावना उतनी ही बेहतर होती है.

ऊपर लौटें

मुझे क्या देखना चाहिए?

क्रेडिट कार्ड के साथ हमेशा समय पर भुगतान करें क्योंकि विलंब भुगतान शुल्क बहुत ऊँचा होता है, न्यूनतम नियत भुगतान का करीब १५% या कुल बकाया बैलेंस का २.५% होता है. देखने योग्य अन्य बाद है क्रेडिट कार्ड अकाउंट को बंद करना; सुनिश्चित करें कि बैंक खाते को बंद करे अन्यथा प्रभार बढते जाएंगे अैर इसे बकाया भुगतान के रूप में देखा जा सकता है, जो आपके सीआईआर और क्रेडिट स्कोर को प्रभावित करेगा.

ऊपर लौटें

ऑटो लोन उत्साहपूर्ण सडक यात्रा से लेकर आपकी दैनिक यात्रा तक आपका पसंदीदा ऑटोमोबाइल अब आपके कब्जे में तुरंत आ सकता है ऑटो लोन्स के साथ.

आटो लोन क्या है?

ऑटो लोन ऐसे कर्जदारों द्वारा लिया जाता है जो वाहन खरीदना चाहते हैं. ये लोन्स सामान्य रूप से वाहन के प्रति सिक्योर (कोलैटरलाइज्ड्) किए जाते हैं.

ऊपर लौटें

इसके कौन से विभिन्न प्रकार हैं?

नई कारों, यूज्ड कारों, टू व्हीलर्स (सामान्य रूप से टू व्हीलर लोन कहा जाता है) और कमर्शियल वेहिकल (सामान्य रूप से कमर्शियल वेहिकल लोन कहा जाता है) के लिए ऑटो लोन प्रदान किया जा सकता है.

ऊपर लौटें

कर्ज/चुकौती कैसे लगते हैं?

इनवॉइस मूल्य के ९०% तक आटो लोन लिया जा सकता है. वाहन कर्जदाता के नाम कोलैटरल के रूप में गिरवी रखा जाता है. चुकौती आपकी आय और अन्य जरूरतों पर आधारित होती है; यह विशिष्ट रूप से १२-८४ महीने के बीच होता है.

ऊपर लौटें

विशिष्ट ब्याज दरें क्या हैं?

कर्जदाता वाहन के प्रकार और लोन राशि के आधार पर ब्याज दर तय करते हैं. ऑटो लोन्स की ब्याज दरें सामान्य रूप से तय होती हैं.

ऊपर लौटें

कर्जदाता क्या देखते हैं?

कर्जदाता ऑटो लोन देने से पहले ग्राहक की आय, क्रेडिट इतिहास और वर्तमान लोन चुकौतियां (जिन्हे ईएमआई - इक्वेटेड मंथली इंस्टॉलमेंट्स भी कहा जाता है) देखते हैं. सिबिल स्कोर और चुकौती का इतिहास जितना बेहतर होता है, आपके पसंद का आटो लोन मंजूर होने की संभावना उतनी ही बेहतर होती है. सुनिश्चित करें कि यहां से खरीदते समय आपकी क्रेडिट रिपोर्ट सटीक हो और सकारात्मक हो.

ऊपर लौटें

मुझे क्या देखना चाहिए?

आपके कार डीलर द्वारा सुझाए गए बैंक के साथ जाना हमेशा जरूरी नहीं होता, यदि अन्य कर्जदाता दिए जा रहे लोन्स पर बेहतर शर्तें दे रहे हैं तो आप उनके पास जा सकते हैं.

ऊपर लौटें

होम लोन अपने सपनों के घर के लिए बचत कर रहे हैं? अपने रिटायरमेंट में सहारे के लिए कोई संपत्ति लेना चाहते हैं? होम लोन इस सपने को सच्चाई में बदल सकते हैं. होम लोन लेने से पहले नीचे दिए गए अक्सर पूछे जानेवाले प्रश्न पढें.

होम लोन क्या है?

होम लोन उन व्यक्तियों को प्रदान किया जाता है जो घर खरीदना या बनाना चाहते हैं. संपत्ति, लोन चुकता होने तक कर्जदाता के पास गिरवी रखी जाती है. बैंक या वित्तीय संस्थान लोन के लिए नियत ब्याज सहित चुकौती होने तक संपत्ति का अधिकार या डीड अपने पास रखता है.

ऊपर लौटें

इसके कौन से विभिन्न प्रकार है?

होम लोन के जरिए, आप नया घर/अपार्टमेंट खरीद या बना सकते हैं; होम इम्प्रूवमेंट लोन उन लोगों को दिया जाता है जो अपने घरों का नवीनीकरण करना चाहते हैं; होम एक्सटेंशन लोन उन ग्राहकों के लिए होता है जो अपने घर में अतिरिक्त जगह जोडना चाहते हैं जैसे कि नया कमरा या नई विंग; लोन अगेन्स्ट प्रॉपर्टी अपनी पहले से मौजूदा संपत्ति के प्रति लोन चाहने वालों को दिया जाता है; लैंड पर्चेज लोन उन ग्राहकों को दिया जाता है जो निवेश के रूप में जमीन खरीद रहे हैं, और शायद बाद में घर बनाना चाहते हैं और बैलेंस ट्रांसफर लोन मूलत: ऐसा होम लोन है जो मौजूदा होम लोन को चुकाने के लिए होता है क्योंकि इसकी बदौलत आप कमतर ब्याज दर पर लोन पाने में सक्षम रहते हैं.

ऊपर लौटें

उधार ली जा सकने वाली अधिकतम राशि क्या है?

कर्ज की राशि कर्जदार की स्थिति (नागरिक/अनिवासी), होम लोन के प्रकार (नवीनीकरण, संपत्ति खरीद, संपत्ति विस्तार) और वित्तीय संस्थान पर निर्भर होती है. यह सामान्य रूप से संपत्ति की लागत के ८०-८५% तक के लिए दिया जाता है.

ऊपर लौटें

चुकौती की अवधि क्या है?

चुकौती की अवधि कर्जदार की आय और मौजूदा ईएमआई के आधार पर उसकी चुकौती की क्षमता को ध्यान में लेती है. होम लोन की अवधि ५ - ३० वर्ष के बीच हो सकती है.

ऊपर लौटें

ब्याज दरों के क्या प्रकार हैं?

होम लोन्स के लिए ब्याज दरें कर्जदार की जरूरत के अनुसार निश्चित या फ्लोटिंग हो सकती हैं, या आंशिक रूप से निश्चित या आंशिक रूप से प्लवनशील हो सकती हैं.

ऊपर लौटें

होम लोन के लिए आवेदन करते समय कौन से खर्च करने होंगे?

होम लोन के लिए, मूलभूत रजिस्ट्रेशन प्रभार, ट्रांसफर प्रभार और स्टैंप ड्यूटी की लागत, घर की लागत में जोडे जाते हैं. कुछ अन्य प्रभारों में शामिल हैं:

  • प्रक्रिया शुल्क या बुकिंग फीस- लोन के लिए आवेदन करते समय कर्जदाता को अदा किया जाता है. यह निश्चित या लोन राशि के प्रतिशत के रूप में हो सकता है.
  • पूर्व-भुगतान जुर्माना- यदि सहमत अवधि से पहले लोन चुका दिया जाता है तो कुछ कर्जदाता पूर्व अदा राशि के २% तक जुर्माना लगा सकते हैं.
  • फुटकर लागत- कागजी कार्रवाई या लीगल फीस लिया जा सकता है जो ``आवेदन शुल्क'' के रूप में भी जाना जाता है.

ऊपर लौटें

मैं लोन के लिए पात्र हूँ या नहीं यह मुझे कैसे पता चलेगा?

वित्तीय संस्थान द्वारा लोन पात्रता कैसे निर्धारित की जाती है, यह बेहतर समझने के लिए इस लिंक को देखें.

ऊपर लौटें

होम लोन पर कर लाभ क्या हैं?

आपके होम लोन पर कुछ कर लाभ उपलब्ध हैं. कृपया इन लाभों के लिए अपने अकाउंटेंट से बात करें.

ऊपर लौटें

कर्जदाता क्या देखते हैं?

होम लोन आवेदन को मंजूरी देने से पहले कर्जदाता निजी विवरण देखते हैं, जैसे कि ग्राहक का अच्छा क्रेडिट इतिहास, वार्षिक और मासिक आय, मौजूदा ईएमआई, घर/संपत्ति का साफ सुथरा अधिकार और घर का स्थान. हमारी क्रेडिट रिपोर्ट यहॉं खरीदें ताकि सुनिश्चित हो सके कि आपका क्रेडिट इतिहास और निजी विवरण व्यवस्थित है, ताकि कर्जदाता की ओर से अस्वीकृति को टाला जा सके.

ऊपर लौटें

अतिरिक्त प्रश्न

ईएमआई क्या है?

ईएमआई यानी इक्वेटेड मंथली इंस्टॉलमेंट मासिक आधार पर बैंक या कर्जदाता को अदा की जाने वाली धन राशि है. इसमें प्रिंसिपल और उक्त राशि पर ब्याज शामिल है जो कि लोन अवधि में महीनों की संख्या से बराबर विभाजित किया जाता है. ईएमआई पूरी राशि चुकता होने तक महीने की एक निश्चित तारीख पर अदा की जाती है. पहले से अपनी ईएमआई की गणना करने से आपको अपने बजट की योजना करने में मदद मिल सकती है, क्योंकि आपको पता चलेगा कि आपको हर महीने कितनी ईएमआई अदा करनी है.

ऊपर लौटें

ब्याज दर के विभिन्न प्रकार क्या हैं?

    1. निश्चित ब्याज दर:
      लोन की संपूर्ण अवधि के लिए लोन या मॉर्टगेज पर निश्चित दर, पूर्व निर्धारित दर पर कायम रहती है. इसकी बदौलत कर्जदार अपने भावी भुगतानों की योजना करने में सक्षम रहते हैं. सामान्य रूप से पर्सनल लोन्स और क्रेडिट कार्ड्स पर निश्चित ब्याज दर लागू होती है.
    2. फ्लोटिंग ब्याज दर:
      फ्लोटिंग ब्याज दर बाजार के साथ या इंडेक्स के साथ बदलती रहती है. फ्लोटिंग दरें सामान्य रूप से होम लोन्स पर लागू होती हैं; फ्लोटिंग दर की गणना करने के लिए प्राइम लेंडिंग दर या बेस दर का उपयोग किया जाता है, और लगाई जाने वाली ब्याज दर प्राइम इंटरेस्ट रेट/बेस रेट तथा एक निश्चित स्प्रेड को मिलाकर आई राशि होती है (क्रेडिट संस्थान द्वारा निर्धारित होती है).

ऊपर लौटें

दस्तावेजों की जांचसूची

आवश्यक दस्तावेजपर्सनल लोनक्रेडिट कार्डऑटो लोनहोम लोन
नवीनतम क्रेडिट स्कोर और सीआईआर*        
बैंक ब्यौरा        
केवाईसी दस्तावेज (पहचान, हस्ताक्षर और पता प्रमाण)        
पंजीकरण के कागज        
आय का ब्यौरा (जैसे वेतन पर्ची)        
संपत्ति के कागज        
पिछले ३ वर्षों का आईटी रिटर्न  
(केवल स्वरोजगार के लिए)
 
(केवल स्वरोजगार के लिए)
   

* यह एक सांकेतिक सूची है और अलग अगल कर्जदाताओं के अनुसार भिन्न हो सकती है.